किसानो के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिए ऐतिहासिक फैसला

0
167
किसानो के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिए ऐतिहासिक फैसला- Breaking News

मोदी सरकार ने किसानों को बड़ा तोहफा दिया है। 2019 के आम चुनाव से पहले बजट की घोषणा में लागत मूल्य से 50 फीसदी अधिक दाम देने के वादे के तहत केंद्रीय कैबिनेट ने खरीफ फसलों के नए समर्थन मूल्य को मंजूरी दी है। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सरकार के फैसले की घोषणा करते हुए कहा कि धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 200 रुपये बढ़ाकर 1,750 रुपये क्विंटल कर दिया गया है, जबकि ए ग्रेड धान पर 160 रुपये का इजाफा किया गया है। उन्होंने कहा कि एमएसपी बढ़ाने से सरकार पर 15 हजार करोड़ का अतिरिक्त भार बढ़ेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस वृद्धि को ऐतिहासिक बताया है।

14 खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में अधिकतम वृद्धि रागी में हुई है। इसका एमएसपी 1900 रुपये बढ़ाकर 2,897 रुपये प्रति क्विंटल किया गया है। मक्के के समर्थन मूल्य को 1425 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 1700 रुपये किया गया। मूंग की खरीद प्रति क्विंटल 5575 रुपये की दर से हो रही थी अब किसानों को इसके लिए 6975 रुपये मिलेंगे। उड़द के न्यूनतम समर्थन मूल्य को 5400 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 5600 रुपये किया गया। बाजरे के एमएसपी को 1425 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़ाकर 1950 रुपये किया गया।

कपास (मध्यम रेशा) के लिए किसानों को अभी तक 4,020 रुपये प्रति 100 किलोग्राम मिल रहा था अब इसे बढ़ाकर 5,150 रुपये किया गया है। लंबे रेशे वाले कपास का मूल्य 4,320 रुपये से बढ़ाकर 5,450 हो गया है।

ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ख़ुशी जाहिर करते हुए ट्वीट किया कि “मुझे अत्यंत खुशी हो रही है कि किसान भाइयों-बहनों को सरकार ने लागत के 1.5 गुना MSP देने का जो वादा किया था, आज उसे पूरा किया गया है। फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में इस बार ऐतिहासिक वृद्धि की गई है। सभी किसान भाइयों-बहनों को बधाई।”

— Narendra Modi (@narendramodi) July 4, 2018

कृषि क्षेत्र के विकास और किसान कल्याण के लिए जो भी पहल जरूरी हैं, सरकार उसके लिए प्रतिबद्ध है। हम इस दिशा में लगातार कदम उठाते आए हैं और आगे भी आवश्यक कदम उठाते रहेंगे।

— Narendra Modi (@narendramodi) July 4, 2018

पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने भी अपनी प्रतिक्रिया जताई “खरीफ फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) में ऐतिहासिक वृद्धि को मंजूरी देने के लिए मैं प्रधानमंत्री श्री @narendramodi जी और उनकी कैबिनेट को बधाई देता हूं। यह किसानों की आय को दोगुना करने की दिशा में मोदी सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। pic.twitter.com/dRi7G0Po2w

— Amit Shah (@AmitShah) July 4, 2018

यह न केवल किसानों की उपज के लिए बेहतर मूल्य सुनिश्चित करेगा बल्कि उनके जीवन में भी गुणात्मक सुधार लाएगा।

पहले किसानों के लिए प्रभावी फसल बीमा योजना और अब MSP में यह ऐतिहासिक बढोतरी, मोदी सरकार की “सबका साथ-सबका विकास” की दिशा में कटिबद्धता को प्रमाणित करती है।

— Amit Shah (@AmitShah) July 4, 2018

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी प्रधानमंत्री मोदी को बधाई देते हुए कहा कि “आज प्रधानमंत्री श्री @narendramodi की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में केन्द्र सरकार ने ऐतिहासिक फ़ैसला करते हुए 2018-19 की खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को उत्पादन लागत का कम से कम डेढ़ गुना करने का फैसला लिया है।मैं प्रधानमंत्री जी को इसके लिए बधाई देता हूँ।

— Rajnath Singh (@rajnathsingh) July 4, 2018

यह फ़ैसला जहाँ किसानों के प्रति हमारे प्रधानमंत्री की संवेदनशीलता को दर्शाता है वहीं कृषि एवं कृषक कल्याण के लिए हमारी सरकार की प्रतिबद्दता को भी प्रदर्शित करता है।

— Rajnath Singh (@rajnathsingh) July 4, 2018

केन्द्र सरकार के इस निर्णय से जहां किसानों को अपनी फसलों का लाभकारी मूल्य मिलेगा वहीं इसका सकारात्मक प्रभाव देश की अर्थव्यवस्था पर भी पड़ेगा।

— Rajnath Singh (@rajnathsingh) July 4, 2018

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 2022 तक देश के किसानों की आमदनी को बढ़ाकर दुगुना करने का संकल्प लिया है। केन्द्रीय कैबिनेट द्वारा लिया गया आज का निर्णय इस दिशा में एक महत्वपूर्ण और कारगर कदम है।

— Rajnath Singh (@rajnathsingh) July 4, 2018

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने 2014 में किसानों से साथ चुनावी वादा किया था कि वह किसानों को उनकी लागत का डेढ़ गुना मूल्य दिलाएगी। इसे पूरा करने के लिए सरकार ने इस साल पहली फरवरी को पेश किए गए अपने आखरी पूर्ण बजट में इस वादे को पूरा करने की घोषणा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों से संबंधित समिति ने बुधवार को 14 खरीफ फसलों के एमएसपी के प्रस्तावों पर मुहर लगाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here