BJP(राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह) ने अखिलेश यादव और मायावती पर साधा निशाना!

0
119

वाराणसी। अमित शाह ने मोदी सरकार पर आए दिन निशाना साधने वाले विपक्षियों को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि अमेठी और रायबरेली को सालों से अंधेरे में रखने वाले राहुल बाबा से हिसाब मांग रहे हैं, पहले वह बताएं कि उनकी चार पीढ़ियों ने राज किया फिर भी देश का विकास क्यों नहीं हुआ। यूपी में जाति की राजनीति करने वाला एक कुनबा और जिसका कुनबा नहीं है वह भी हिसाब मांग रहे हैं। शाह ने कहा कि कांग्रेस, सपा और बसपा ने यूपी की जनता का खून चूसने के अलावा कोई काम नहीं किया। मोदी की इच्छाशक्ति ही थी कि इजरायल और अमेरिका के बाद भारत ऐसा देश बना जिसने उरी हमले के बाद आतंकियों को उसी की भाषा में जवाब दिया और पाकिस्तान में घुसकर सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक की। मोदी सरकार में ही देश का मान बढ़ा।BJP(राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह) ने अखिलेश यादव और मायावती पर साधा निशाना!भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने अखिलेश यादव और मायावती पर निशाना साधते हुए कहा कि यूपी में अगर बुआ-भतीजे हाथ मिलाते हैं तो लोकसभा चुनाव में थोड़ा फर्क पड़ेगा। इस अंतर को मिटाने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं को मत प्रतिशत 44 से ऊपर 51 प्रतिशत तक ले जाना होगा। लोकसभा में बहुमत का रास्ता यूपी से निकलेगा। 2014 में यहां की जनता से भाजपा को 65 सीटों की उम्मीद थी, लेकिन नरेंद्र मोदी पर अपना प्यार लुटाते हुए लोगों ने 71 सीट दे दी थी। उन्होंने विश्वास जताया कि मिशन 2019 में यहां की जनता मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए इस बार 74 सीट देगी।पंडित दीनदयाल हस्तकला संकुल, बड़ालालपुर में भाजपा के सोशल मीडिया वालंटियर्स मीट में कार्यकर्ताओं से संवाद करने पहुंचे भाजपा अध्यक्ष ने मिशन 2019 का साइबर शांखनाद किया। कहा कि 15 अगस्त के बाद पूरा देश चुनावी मोड में आ जाएगा। सोशल मीडिया के माध्यम से हम जनता के बीच जाकर मोदी और योगी सरकार की योजनाओं को बताएंगे और उनका समर्थन मांगेंगे।

ऐसा कोई काम नहीं किया जिससे शर्म आए- अमित शाह ने कहा कि मोदी और योगी सरकार ने ऐसा कोई काम नहीं किया जिससे जनता के बीच जाने में कार्यकर्ताओं को शर्म आए। मोदी-योगी सरकार ने गरीब, किसानों, महिलाओं के उत्थान के साथ ही बुनियादी सुविधाओं पर पूरा ध्यान दिया और आज करोड़ों जनता योजनाओं का लाभ ले रही है। इस बार भी भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनेगी और नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनेंगे।

काशी में देवगौड़ा को कौन सुनेगा- भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव में बहुमत नहीं मिला। आपने देखा होगा कि मंच पर कैसे 14 नेता हाथ में हाथ पकड़कर खड़े थे। इन लोगों की अपने राज्य के बाहर कोई पकड़ नहीं है। अब आप बताएं कि काशी में देवगौड़ा, बरेली में ममता दीदी और चंद्रबाबू नायडू को लखनऊ में कौन सुनेगा? यह सब मिलकर भी भाजपा के कार्यकर्ताओं के हौसले को नहीं तोड़ सकते।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here