BJP के 12 घंटे का बंगाल बंद से रेल सेवा प्रभावित,बंद समर्थक गिरफ्तार

0
59
BJP News,Bengal News,West Bengal News

कोलकातापश्चिम बंगाल में भाजपा आहूत बंद के दौरान जनजीवन लगभग सामान्य है. बंद के दौरान छिटपुट कुछ घटनाएं हुई हैं, लेकिन कुल मिलाकर स्थिति सामान्य है. महानगर में यातायात सामान्य है. रेल यातायात तथा हवाई उड़ानों पर भी बंद का असर नहीं के बराबर नजर आ रहा है. हालांकि सियालदह मेन लाइन में अवरोध के कारण ट्रेन यातायात सेवाएं प्रभावित हुई है.BJP News,west bengal bandhबुधवार सुबह महानगर की अधिकांश दुकानें खुलनी शुरू हुई है. शिक्षण संस्थाएं भी खुली हुई हैं. हालांकि छात्रों की उपस्थिति कम है. स्कूलों ने आज होने वाली परीक्षाएं स्थगित कर दी थी, लेकिन स्कूल खुले रहने की घोषणा की थी. प्रशासन ने बंद से मुकाबले की पूरी व्यवस्था की है. जगह-जगह पुलिस तैनात किये गये हैं. बसों की संख्या बढ़ा दी गयी है.

प्राप्त सूचना के अनुसार हावड़ा में दो बसों में तोड़फोड़ की गयी हैं. इसके साथ ही मिदनापुर में बसों में भी तोड़फोड़ की सूचना मिली है. पश्चिम बंगाल के शिल्पांचल के इलाके में भी बंद का बहुत ज्यादा असर नहीं है. जनजीवन सामान्य एवं स्वाभाविक है. उल्लेखनीय है कि भाजपा ने इस्लामपुर में 2 छात्रों की मौत के बाद बंद का आह्वान किया है. तृणमूल कांग्रेस ने बंद का विरोध करने की घोषणा की थी. महानगर के विभिन्न इलाके में भाजपा के बंद समर्थक जुलूस निकाल रहे हैं,जबकि विरोध में तृणमूल कांग्रेस के समर्थक भी जुलूस निकाल रहे हैं.

यह भी पढ़े-बंगाल-दीदी के राज में फिर टूटा निर्माणाधीन पुल

पुलिस ने महानगर में बंद के समर्थन में जुलूस निकालने वाले भाजपा समर्थकों को जगह-जगह से गिरफ्तार किया है.

dilip_ghoshराज्य भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने मंगलवार को कहा- इस सरकार से लोग परेशान हो चुके हैं. लोग इस बंद में शांतिपूर्ण तरीके से शामिल होंगे. लेकिन अगर तृणमूल और उसके गुंडे बंद में गड़बड़ करने की कोशिश करेंगे तो इसके नतीजे से भुगतने होंगे. तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने आरोप लगाया कि भाजपा राज्य में विकास कार्यों को रोकना चाहती है. तृणमूल के महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा कि सरकारें बसें चलेंगी, इसके साथ ही अतिरिक्त ट्राम चलायी जायेंगी.  उन्होंने व्यावसायिक प्रतिष्ठानों और निजी शिक्षण संस्थानों से आग्रह किया कि वे बुधवार को सामान्य रूप से अपनी गतिविधियां संचालित करें.

abvp Newsएबीवीपी कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प, आठ गिरफ्तार
इस्लामपुर की घटना के विरोध में एबीवीपी की ओर से मंगलवार को कॉलेज स्ट्रीट से धर्मतल्ला तक जुलूस निकाला गया. छात्रों के इस आंदोलन को समर्थन देने के लिए भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य मुकुल राय और भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष लाकेट चटर्जी भी जुलूस में शामिल हुईं. धर्मतल्ला पहुंचने पर पुलिस को देखते ही छात्र उग्र हो गये और उन्होंने पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की. यही नहीं, मानव शृंखला बनाने की कोशिश की गयी. इस दौरान पुलिस और एबीवीपी कार्यकर्ताओं में झड़प हो गयी. जमकर धक्का-मुक्की और हाथापाई हुई. पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर छात्रों को तितर -बितर कर दिया. इस दौरान कई छात्रों को चोटें भी आयीं और आठ को पुलिस ने गिरफ्तार किया.
जबरन बंद कराने वालों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई:आइजी- भाजपा के बुधवार को 12 घंटे के बंगाल बंद के मद्देनजर पुलिस-प्रशासन की ओर से सतर्कता बरती जा रही है. मंगलवार को आइजी (कानून-व्यवस्था) अनुज शर्मा ने कहा कि जनजीवन सामान्य रखने के लिए हर संभव कदम उठाये जायेंगे. अगर कोई गड़बड़ी फैलाने की कोशिश करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी. श्री शर्मा ने कहा कि बुधवार को महानगर में 1500 अतिरिक्त पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे. साथ ही कई स्थानों पर रैफ को भी तैनात किया जायेगा. उधर, राज्य सरकार की ओर से कहा गया है कि बुधवार को सभी सरकारी स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी, सरकार के अधीन काम करने वाले कार्यालय खुले रहेंगे. निजी संस्थानों से भी कार्यालय खुले रखने का आवेदन किया गया है. सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये हैं.
भाजपा के बंगाल बंद के खिलाफ याचिका पर सुनवाई एक दिन टली- कलकत्ता हाइकोर्ट ने भाजपा को बुधवार को उसके बंगाल बंद को वापस लेने का निर्देश दिये जाने की मांग वाली जनहित याचिका पर मंगलवार को सुनवाई एक दिन के लिए टाल दी. कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश देवाशीष कर गुप्ता की पीठ ने सुनवाई इसलिए टाल दी, क्योंकि दूसरे पक्ष के वकील एक वरिष्ठ अधिवक्ता के निधन के चलते कोर्ट में उपस्थित नहीं हुए थे. वकालत भी करनेवाले तृणमूल कांग्रेस के सांसद इदरीस अली ने अपनी याचिका में भाजपा द्वारा बुधवार सुबह छह बजे से शाम छह बजे तक बुलाये गये बंद के संबंध में निर्देश दिये जाने की अपील की. पीठ ने इदरीस अली को निर्देश दिया कि बुधवार को अदालत के समक्ष पेश होने के संबंध में वह भाजपा, आरएसएस, पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्र सरकार को नये सिरे से नोटिस जारी करायें. बंद बुलाने को चुनौती देते हुए इदरसी अली ने  दलील दी कि नागरिकों को उनके रोजाना के काम करने से जबरन नहीं रोका जा सकता. उन्होंने कहा कि केरल उच्च न्यायालय ने बंद को अवैध व असंवैधानिक ठहराया था और उच्चतम न्यायालय ने इस आदेश को बरकरार रखा था.

-For all types of News, Latest News, News today, Current news, Political News, Hindi News and Breaking News from the world of Politics, Sports and Entertainment, of our Nation and Worldwide, stay tuned to Netaaji.news and bookmark this page for instant News.

Also get live updates of Election Result and detail of your favourite Politician on our website Netaaji.com